बाजूबन्द / अविनाश मिश्र


बाजूबन्द / अविनाश मिश्र
वह आमन्त्रित है
मैं भी
अन्य भी

प्रथम पुरुष के लिए वह अर्गला है
मध्यम के लिए आश्चर्य
अन्य के लिए आकांक्षा


Leave a Reply

Your email address will not be published.