क्या कहे सुलेखा ! / अवनीश सिंह चौहान


क्या कहे सुलेखा ! / अवनीश सिंह चौहान
किससे अब
क्या कहे सुलेखा

खनन माफ़िया
मिल कर लूटे
बाझ, कबूतर
पर ज्यों टूटे

मेट रहे
कुदरत का लेखा

छविया भोली
धरा-दबोचा
एक व्यवस्था ने
मिल नोंचा

पेपर में
दुनिया ने देखा

दुस्साहस
क्रशरों का बढ़ता
चट्टानों से
चूना झड़ता

मिटी हीर की
जीवन रेखा


Leave a Reply

Your email address will not be published.