बेईमानी / अर्पिता राठौर


बेईमानी / अर्पिता राठौर
मैंने अपने जीवन के
सबसे उदास क्षणों पर
कविता तब लिखी
जब उस उदासी को लेकर
मैं सबसे ज़्यादा तटस्थ थी।


Leave a Reply

Your email address will not be published.