हौसला / अच्युतानंद मिश्र


हौसला / अच्युतानंद मिश्र
रोज़ सुबह
तुम्हारे हृदय के
बाएँ हिस्से में
जहाँ होती है
धड़कन
बैठती है एक चिड़िया
और शाम ढले
उड़ जाती है
उसे उड़ने मत दो


Leave a Reply

Your email address will not be published.