में हूँ तुम्हारा दोस्त / अंशु हर्ष


में हूँ तुम्हारा दोस्त / अंशु हर्ष
में नहीं दूंगा तुम्हे तुम्हारी हर समस्या का हल,
फिर भी सुनुगा तुम्हारे जज़्बात और
साथ बैठ निकालेंगे हल:

में नहीं बदल सकता तुम्हारे अतीत के पल और भविष्य के कहानिया
पर अभी हु तुम्हारे साथ इस पल:

में नहीं रोक सकता तुम्हारे कदमो को डगमगाने से,
सिर्फ दे सकता हूँ अपना हाथ संभलने के लिए:

तुम्हारी जिदगी के फैसले तुम्हारे अपने होंगे,
में दूंगा उन्हें सहारा, उत्सा ह और मदद
जब तुम चाहोगे:

में नहीं रोक सकता तुम्हारे दिल को टूटने से,
पर तुम्हारे पास हूँ तुम्हे सहारा देने और उन टुकडो को जोड़ने के लिए:

मेरी दोस्ती के तुम्हारे जीवन में कोई बंदिशे नहीं होगे,
में नहीं चाहता तुम उन बेडियों में उलज जाओ,
सिर्फ जियो मेरे साथ उत्साह उमंग और बिना शर्तो के साथ:

में नहीं बता सकता कोंन हो तुम
पर में हूँ तुम्हारा दोस्त एक सुल्ज़ी हुई दोस्ती के साथ


Leave a Reply

Your email address will not be published.